Hanuman Ji Ki Aarti Lyrics | हनुमान जी की आरती

Hanuman Ji Ki Aarti Lyrics: हनुमान जी की आरती Hanuman Ki Aarti हनुमान भगवान राम के एक हिंदू देवता हैं। हनुमान हिंदू महाकाव्य रामायण के केंद्रीय पात्रों में से एक हैं। वे एक ब्रह्मचारी (जीवनकाल) हैं और चिरंजीवी में से एक हैं। उन्हें महाभारत और विभिन्न पुराणों जैसे कई अन्य ग्रंथों में भी वर्णित किया गया है। हनुमान अंजना और केसरी के पुत्र हैं। महर्षि गौतम और अहल्या भगवान हनुमान वायु के पिता थे।

Hanuman Ji Ki Aarti Lyrics 2021

Hanuman Ji Ki Aarti Lyrics

आरती कीजै हनुमान लला की Aarti Lyrics in Hindi

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

जाके बल से गिरिवर कांपे
रोग दोष जाके निकट न झांके

अंजनि पुत्र महा बलदाई
सन्तन के प्रभु सदा सहाई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

दे बीरा रघुनाथ पठाए
लंका जायी सिया सुधि लाए

लंका सो कोट समुद्र सीखाई
जात पवनसुत बार न लाई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

लंका जारि असुर संहारे
सियारामजी के काज सवारे

लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे
आनि संजीवन प्राण उबारे

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

पैठि पाताल तोरि जम कारे
अहिरावण की भुजा उखारे

बाएं भुजा असुरदल मारे
दाहिने भुजा संत जन तारे

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

सुर नर मुनि आरती उतारें
जय जय जय हनुमान उचारें

कंचन थार कपूर लौ छाई
आरती करत अंजनी माई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की

जो हनुमानजी की आरती गावे
बसि बैकुण्ठ परम पद पावे

लंक बिध्वंश किन्ही रघुराई
तुलसी दस स्वामी आरती गाई

आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की
आरती कीजै हनुमान लला की
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की

आरती कीजै हनुमान लला की

Hanuman Ji Ki Aarti Details

Singer: Pt. Somnath Sharma
Music Director: Pt. Somnath Sharma
Lyrics: Traditional
Graphics: Prem Graphics PG.

Shree Hanuman Ji Aarti Lyrics In English

Aarti Kije Hanuman Lala Ki (x2)
Aarti Kije Hanuman Lala Ki (x2)
Dusht Dalan Ragunath Kala Ki
Aarti Kije Hanuman Lala Ki….(x2)

Ja Ke Bal Se Giriver Kaanpe
Rog Dosh Ja Ke Nikat Na Jhaanke
Anjani Putrr Mahabaldayi
Santan Ke Prabhu Sada Suhayi
Aarti Kije Hanuman Lala Ki….(x2)

De Beeraa Raghunath Pathaye
Lanka Jaari Siya Sudhi Laiye
Lanka 100 Kott Samundra Se Khayi

Jaat Pavan Sut Baar Na Layi
Lanka Jaari Asur Sanghare
Siya Ramji Ke Kaaj Sanvare
Aarti Kije Hanuman Lala Ki….(x2)

Lakshman Moorchit Parhe Sakare
Aan Sajivan Pran Ubhaare
Paith Pataal Tori Yamkare

Ahiravan Ke Bhuja Ukhaare
Baayen Bhuja Asur Dal Mare
Dahini Bhuja Sant Jan Taare
Aarti Kije Hanuman Lala Ki….(x2)

Surnar Muni Aarti Utare
Jai Jai Jai Hanuman Uchaare
Kanchan Thaar Kapur Lo thari
Aarti Karat Aajana Mai

Jo Hanuman Ki Aarti Gaave
Basi Baikuntha param Padh Pave
Aarti Kije Hanuman Lala Ki….(x2)
Aarti Kije Hanuman Lala Ki….(x2).

🔔 Turn On Notifications To Stay Updated With New Uploads!