Ghar Se Nikalte Hi Lyrics | Amaal Mallik | Bhushan Kumar

Ghar Se Nikalte Hi Lyrics: Gulshan Kumar and T-Series composed the song, sung by Armaan Malik and composed by Amaal Mallik and directed by Kunal Verma, the video is written by Charit Desai Lyrics. Song Adapted From The Original Song Ghar Se Nikalte Hi Composed By Rajesh Roshan, Sung By Udit Narayan & Penned By Javed Akhtar.

Ghar Se Nikalte Hi Lyrics

Ghar Se Nikalte Hi Song Lyrics

घर से निकलते ही
कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर
पहली दफ़ा मैंने
जब उसको देखा था
सांसें गयी ये ठहर

रहती है दिल में मेरे
कैसे बताऊँ उसे
मैं तो नहीं कह सका
कोई बता दे उसे

घर से निकलते ही
कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर

उसकी गली में है ढली
कितनी ही शामें मेरी
देखे कभी वो जो मुझे
खुश हूँ मैं इतने में ही

मैंने तरीके सौ आजमाए
जाके उसे ना कुछ बोल पाए
बैठे रहे हम रात भर

जो पास जाता हूँ
सब भूल जाता हूँ
मिलती है जब ये नज़र

घर से निकलते ही
कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर

कल जो मिले वो राहों में
तो मैं उसे रोक लूं
उसके दिल में क्या है छिपा
इक बार मैं पूछ लूं

पर अब वहाँ वो रहती नहीं है
मैंने सुना है वो जा चुकी है
खाली पड़ा है ये शहर

मैं फिर भी जाता हूँ
सब दोहराता हूँ
शायद मिले कुछ खबर

हो.. हम्म..

घर से निकलते ही
कुछ दूर चलते ही
रस्ते में है उसका घर

Ghar Se Nikalte Hi Song Details

Song – Ghar Se Nikalte Hi
Singer – Armaan Malik
Music Composed & Reprised By – Amaal Mallik
Lyrics – Kunaal Vermaa
Directed By – Charit Desai

🔔 Turn On Notifications To Stay Updated With New Uploads!